Essay On Road Accidents In Hindi

Essay on Road Accident in Hindi : Sadak Durghatna (Road Safety)

भारत में सड़क दुर्घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं  सड़क सुरक्षा आज के भारत की सबसे मह्त्वपूर्ण जरूरत बन चुका है। 1990 के दशक में भारतीय सड़कों पर वाहनों की संख्या 3 करोड़ के पास थी जो आज बढ़कर 15 करोड़ का आंकड़ा पार कर गयी है जो निरंतर गति से बढ़ती ही जा रही है। स्पष्ट है वाहनों की लगातार बढ़ती संख्या भारत जैसे देश के लिए एक विनाशकारी संकट का स्पष्ट संकेत दे रही है।

सड़क पर होने वाली ऐसी दुर्घटनाओं का मुख्य कारण लोगों द्वारा सड़क यातायात नियमों की अनदेखी करना है। तेज़ गति में गाडी चलाना , नशे में ड्राइविंग और गलत दिशा में गाड़ी चलाना आदि दुर्घटनाओं की मुख्य वजय है। सबसे ज्यादा हादसे वाहन चालकों की लापरवाही के चलते होते हैं इसमें सबसे अधिक नशीले पदार्थों का सेवन जा अधिक माल लादना प्रमुख हैं। जिस कारण हर वर्ष भारत में 3 लाख से भी ज्यादा लोग सड़क दुर्घटना में अपनी जान गवा देते हैं वहीँ 10 लाख से अधिक लोग गंभीर रूप से जख़्मी हो जाते हैं। इसीलिए वास्तव में सड़क दुर्घटना को गंभीर रूप से लिए जाने की जरूरत है

देश में होने वाली सड़क सड़क दुर्घटनाओं (Road Accident) में लगभग 80 प्रतिशत दुर्घटनाएं वाहन चालक की गलती से होती हैं इसीलिए सड़क हादसों पर लगाम लगाने के लिए सबसे ज्यादा ध्यान वाहन चालकों की गलती को सुधारने में करना चाहिए। इसके लिए वाहन चालकों को प्रशिक्षित किया जाना चाहिए।

सड़क सुरक्षा को लेकर लोगों में जागरूकता फ़ैलाने की जरूरत है। सड़क सुरक्षा के लिए सड़क नियमों की पालना करें तभी सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है। सड़क दुर्घटना को किस्मत नहीं माना जा सकता सड़क दुर्घटना (Road Accident) को रोकना तो हमारे हाथ में हैं। इसके लिए सड़क पर चलने के कुछ नियम हों गति सीमा , सीट बेल्ट लगाना , ड्राइविंग के समय मोबाइल फ़ोन का प्रयोग ना करना , हैल्मैट पहनना , नशे में ड्राइविंग ना करना जैसे और भी कई नियम बनाये जाने चाहिए  बल्कि इन सभी का कठोरता से पालन भी करवाया जाए।  सड़कों पर जगह -जगह कैमरे लगाये जाए , गति मापक यंत्र लगाये जाने चाहिए , नशे में वाहन चलाने पर लाइसेंस रद्द किया जाना चाहिए और भारत में ड्राइविंग लाइसेंस प्रणाली को सख्त किया जाना चाहिए।

भारत के नागरिकों को चाहिए के वाहन शौंक के लिए नहीं बल्कि इन्हे जरूरत के रूप में ही इस्तेमाल करें दूसरे देशों की तरह भारत में भी नागरिकों को ज्यादातर पैदल चलने और साईकल का इस्तेमाल करने की आदत डालनी चाहिए जिससे पर्यावरण को स्वच्छ रखने और सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है। इसके इलावा सड़कों को इतना सुरक्षित और साफ़ सुथरा करना होगा के पैदल चलने जा साईकल चलाने में लोग ख़ुशी महसूस करें।

जाने -अनजाने में हम अनेक समस्याएं ख़ुद पैदा करते हैं नागरिकों को अपनी कुछ आदतें और तौर तरीकों को पूर्ण रूप से बदलना होगा और सड़क सुरक्षा को लेकर हमें जागरूकता दिखानी होगी तभी हम सड़क दुर्घटनाओं को रोक सकते हैं। (500 Words)

Must Read 

(Visited 8,132 times, 11 visits today)

Filed Under: Hindi EssayTagged With: Hindi Nibandh, Safety Essay in Hindi

आज के date में सड़क दुर्घटना एक गंभीर चिंता का विषय बन गया है | आज कल लोग जितना बीमारी से नहीं मरते है उससे ज्यादा road accident के कारण मरते है | एक report के अनुसार हर दिन भारत में ही तक़रीबन 400 लोगों को अपनी जान से हाथ गवानी पड़ती है | हमे daily news में कही न कही road accident के बारे में सुनने को मिलता है, हर दिन कोई ना कोई road accident का शिकार हो जाता है, इसका सबसे बडा कारण लापरवाही है | आज कल सबसे ज्यदा road accident का शिकार young generation के बच्चे होते है, वे सडक पर गाडियों को बहुत तेज गति से चलाते है और साथ ही traffic नियमो का उलंघन करते है |

हमारे traffic प्रबन्धक हमें लगातर traffic के नियमो के बारे में बताते है, और चेतवनी भी देते है, पर फिर भी कई लोग उन्हें अनसुना कर देती हैं और हमे इसका हरजाना भुगतना पड़ता है | यदि हम अपनी जिम्मेदारी और traffic के नियमो का पालन करते है तो हम अपने आपको तथा दुसरो को road accident से बचा सकते है |

सड़क दुर्घटना के कारण / Main reasons behind Road Accident

वैसे तो आज के date में सड़क दुर्घटना हमारे India में एक आम से बात हो गयी है, परन्तु अगर कुछ चीजों का ख्याल रखा जाये तो इसे काफी हद तक टाला जा सकता है | तो चलिए जानते है वो कौन से मैं causes और reasons हैं जिनके कारण road accident होतीं हैं :

Speeding / तेज गति

सड़क दुर्घटना का सबसे बडा कारण है तेज रफ़्तार | आज कल जितनी भी road accident हमे सुनने या देखने को मिलती है वह ज्यादा तक तेज रफ़्तार से गाड़ी को चलाने के कारण होती है | लोग वाहन चलाते वक्त speed लिमिट को cross कर के चलाते है, खास कर के जो bike चलाते है | आज के date में young generation के बच्चे sports bike चलाना ज्यदा पसंद करते है, और sports bike की रफ़्तार बहुत अधिक होती है | sports bike चलना कोई बुरी बात नहीं है पर इसे तेज रफ़्तार में चलाना बुरी बात है |यदि आप bike या कोई भी वाहन चलाते वक्त speed limit का ख्याल रखते है तो आप road accident से बच्चे रह सकते है |

Drunk Driving / नशे में चलाना

जैसे की हम सभी जानते है की नशा करना बुरी बात है, और नशा करके गाड़ी चलाना तो और भी बुरी बात है | सड़क दुर्घटना का दूसरा सबसे बडा कारण Drunk and Driving है, जब आप पीते हैं, तो आप का ध्यान केंद्रित नहीं रहता है, इसलिए पिने के बाद वाहन चलाते वक्त आपने ध्यान को केंद्रित करपाना बहुत ही मुस्किल हो जाता है और हम सड़क दुर्घटना के शिकार बन जाते है |

Reckless Driving / लापरवाह

लापरवाह भी Road accident का कारण बनता है | हमे गाड़ी चलते वक्त सावधानी के साथ गाड़ी चलन चाहिए | वाहन चलते वक्त हमे कभी भी phone में बात नहीं करना चाहिए, हमे हमेसा आपने ही लेन में गाड़ी चलाना चाहिए और साथ ही traffic नियमो का पालन करते हुए वाहन चलाना चाहिए| यदि किसी वाहन को over टेक कर रहे हैं तो पास मिलने का इन्तेजार करे | यदि हम इन सब बातो को ध्यान में रख कर वाहन चलाते है तो हम road accident से बच सकते है |

Rain / बारिश

कभी कभी मौसम भी road accident का कारण बन जाता है, लोग मौसम ख़राब होने के बब्जुत गाड़ी चलाते है जिससे की वे सड़क दुर्घटना का शिकार बन जाते है | यदि वाहन चालते वक्त मौसम खराब हो जाए तो हमे आपने drive को continue नहीं करना चाहिए बल की कही सुरक्षित जगहा देख कर आपने गाड़ी को side कर के मौसम के सही होने का इन्तेजार कारण चाहिए फिर अपने drive continue करना चाहिए |

Running Red Lights / लाल सिग्नल

Red Lights signal को तोड़ कर गाड़ी चलाना भी road accident का एब बडा कारण है | जैसे की हम सभी जानते है की red signal का अर्थ रुकना होता है, पर हम इस बात को नज़र अंदाज कर देते है और road accident का शिकार बन जाते है | red light signal में गाड़ी को चालने से आप अपने जान को खतरे में तो डालते ही है साथ ही दुसरो का जान को भी खतरे में डाल देते है | इसलिए वाहन चलते वक्त हमे कही भी red signal का संकेत मिलता है, तो हमे आपने वाहन को रोक कर red signal के खुलने का wait करना चाहिए |

Teenage Drivers/किशोर चालकों

जैसे की हम जानते है की road accident का सबसे जायदा शिकार किशोर चालक बनते है | Teenage के बच्चो में experience की कमी होती है जिसके कारण वे road accident का  शिकार हो जाते है, हमे कभी भी Teenage के बच्चो को भीड़-भाड वाले इलाको में उन्हें drive करने के लिए नहीं देना चाहिए |

Road signal / सडको में दिए गए सिग्नल

Road के किनारे दिए गए signals को नज़र अंदाज करना भी road accident कारण बन सकता है | हमे अक्सर देखने को मिलता है की road के किनारे board बना कर उसमे traffic signals बने होते है, यदि हम drive करते वक्त इन signal को देख कर drive करे तो road accident से बच सकते है |

How to Prevent Road accident / सड़क दुर्घटना को रोकने के लिए कुछ मत्वपूर्ण बातें 

  • Driving करते समय मोबाइल फोन का उपयोग ना करे यदि कोई urgent call हो तो आपने वाहन को side में रोक कर बात कर ले फिर drive करे |
  • गाड़ी drive करते वक्त traffic signal का पालन करे red signal में हमेसा आपने वाहन को रोक देना चाहिए ग्रीन signal मिलने पर ही road cross करे |
  • वाहन चलाते वक्त आप के सामने वाले वाहन से एक से दो second का gap बना कर चले, आप के आगे वाले वाहन से कम से कम 15 मीटर की दुरी बना कर चले |
  • पैदल चलते वक्त हमे pedestrian का स्तेमाल करना चाहिए, road cross करते वक्त हमे zebra crossing का स्तेमाल करना चाहिए |
  • car चलते वक्त हमे seat belt लगा कर car को चलाना चाहिए | और bike चलाते समय helmet को पहन कर drive करना चाहिए |
  • भीड़-भाड वाले इलाके school, market, bus stop जैसे स्थानों पर आपने वाहन को slow कर देना चाहिए |
  • अपने वाहन में कुछ पहचान पत्र और महत्वपूर्ण व्यक्तिगत document जैसे की driving licence, id proof ज़रूर से रखने चाहिए |
Category: Tips

0 Thoughts to “Essay On Road Accidents In Hindi

Leave a comment

L'indirizzo email non verrà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *